Home slider

India
+28C

जीवन शैली

Technology

  • राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी हॉकी, रिले टीम को बधाई
    राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी हॉकी, रिले टीम को बधाई

    नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने भारतीय पुरूष हाकी टीम और महिला रिले टीम को इंचियोन एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई दी है। राष्ट्रपति ने अपने बधाई संदेश में कहा कि इस उपलब्धि से आपने भारत को गौरवान्वित किया है। आपकी कामयाबी इस बात का उदाहरण है कि मेहनत और समर्पण के बल पर क्या कुछ हासिल किया जा सकता है। मैं आपको भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

  • लाट आहे तर मग मोदींच्या 25 सभा हव्यात कशाला? उद्धव यांचा भाजपला सवाल
    राष्ट्रपति और पीएम मोदी ने दी हॉकी, रिले टीम को बधाई

    मुंबई- लोकसभेप्रमाणे विधानसभा निवडणूकीतही जर मोदी लाट आहे तर मग पंतप्रधान नरेंद्र मोदींच्या 25 सभांची गरज भाजपला का भासत आहे, असा सवाल करीत शिवसेना पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरेंनी भाजपच्या नेत्यांची हवा काढून टाकली आहे. 25 वर्षाची युती तोडण्याचे पाप भाजप नेत्यांचेच आहे, असेही उद्धव यांनी सांगितले. उद्धव ठाकरेंनी मातोश्रीवर आज दुपारी पत्रकार परिषद घेतली. त्यावेळी ते बोलत होते. यावेळी उद्धव म्हणाले, मला अनेक लोक येऊन आशीर्वाद देत आहेत. याआधी असे घडले नव्हते. समाजातील सर्व स्तरातून पाठिंबा मिळतोय हे मी शुभसंकेत मानत मानतो. यावेळी काही कार्यकर्त्यांनी उद्धव ठाकरेंना पाठिंबा जाहीर केला.

  • इन 5 मुद्दों पर खरी उतरी सरकार, तभी पूरा होगा ‘चलें साथ-साथ मि‍शन’
    इन 5 मुद्दों पर खरी उतरी सरकार, तभी पूरा होगा ‘चलें साथ-साथ मि‍शन’

    नई दि‍ल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका की दि‍ग्‍गज कंपनि‍यों को भारत में नि‍वेश करने और यहां अपने मैन्‍युफैक्‍चरिंग प्‍लांट लागने का न्‍योता दे दि‍या। उन्‍हें इस बात का भरोसा भी दि‍लाया कि‍ भारत बदलाव चाहता है और इसलि‍ए नई सरकार नीति‍यों को सुधारने पर काम कर रही है। मोदी सरकार ने जापान, चीन और अमेरि‍का को बड़े-बड़े वादे तो कर दि‍ए लेकि‍न अब उन्‍हें भारत पहुंच कर इन वादों को पूरा करने के लि‍ए जमीन तैयार करनी पड़ेगी। वि‍देशी नि‍वेशक और कंपनि‍यां तभी भारत आएंगी जब कारोबार से जुड़ी समस्‍याएं दूर होंगी। मोदी को भारत आने के साथ ही भि‍न्‍न चुनौति‍यों को जल्‍द से जल्‍द नि‍पटाना पड़ेगा। आइए एक नजर पर बातों पर डालते हैं जि‍न पर मोदी सरकार को तत्‍काल प्रभाव के साथ काम करना होगा।

Our Advertiser's

सीमा सन्देश के संस्थापक कमलनयन शर्मा ने इस पत्र का प्रकाशन राजस्थान के उत्तर में पंजाब व पाकिस्तान से सटे सीमा क्षेत्र से 10 अक्टूबर 1951 (विजय दशमी) को आरम्भ किया।

शिक़ायत / सुझाव

Photos On Facebook

संपर्क करें

Contact

Advertiser: editor@seemasandesh.com

Editor: editor@seemasandesh.com

Office: editor@seemasandesh.com

Phone: 0154-2466402, 2466403, 2471596

Fax: 0154-2466460

Address: Chak 7-E Chhoti, Hanumangarh Road, SriGanganagar-335001